औरंगाबाद :(नवीनगर)छात्रा की मौत से ग्रामीणों में आक्रोश, बाजार बंद करा किया चक्का जाम

developer
3 Min Read

संदीप कुमारMagadh Express:औरंगाबाद जिले के नवीनगर शहर की छात्रा श्रेया की मौत की घटना के बाद से हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दो दिनों से नवीनगर बाजार बंद है। घटना के विरोध में कैंडल मार्च भी निकाला गया है। घटना को लेकर लोगों का गुस्सा उबाल पर है। वही तीसरे दिन भी प्रदर्शन का दौर जारी है। जिसमें नवीनगर बाजार तथा प्रखंड क्षेत्र के टंडवा बाजार की तमाम दुकानें प्रदर्शनकारियों द्वारा बंद करा दिया गया। वही विभिन्न रूट पर चलने वाली तमाम बसे बंद रही। जिसमें सभी बसे डिपो मे खडी रही। छात्रा की मौत के बाद का बवाल नहीं थम रहा है। परिजन और शहर के लोग श्रेया की मौत को पूरी तरह हत्या मान रहे है। जबकि, पुलिस हत्या व आत्महत्या के बिंदू पर छानबीन कर रही है। बड़ी बात यह है कि इस मामले में पुलिस द्वारा अब तक किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गयी। तीन लोगों का नाम परिजनों द्वारा दिये जाने के बाद भी उन्हें हिरासत में नहीं लिया गया। इस वजह से लोगों में आक्रोश और बढ़ गया है।  आक्रोशितों ने एक-एक दुकानों को बंद कराया। वैसे स्थानीय व्यवसायियों ने भी बिना कुछ कहे अपनी-अपनी दुकानें बंद कर दी। इधर, नवीनगर बस स्टैंड के समीप सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित पहुंचे और पुलिस की कार्यशैली का विरोध करते हुए आगजनी की। मुख्य सड़क को पूरी तरह बाधित कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। आक्रोशितों का कहना था कि श्रेया की हत्या हुई है और नाम आने के बाद भी आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं की गयी।आक्रोशितों का स्पष्ट कहना था कि आंदोलन आगे भी जारी रहेगा। वैसे आक्रोशितों के आक्रोश के बाद बस स्टैंड, न्यू एरिया, मंगल बाजार, शनिचर बाजार, जनकपुर पोखरा सहित तमाम बाजारों के दुकान बंद रहे।वही बंद कराने वाले प्रदर्शनकारियों ने दुकानदारों को चेतावनी दिया है कि जबतक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है तबतक बाजार पूरी तरह से बंद रहेगा।बाजार बंद कराने के बाद सड़को पर सन्नाटा छाया हुआ है। यहां तक की अति आवश्यक दूध,पानी और दवा की दुकानें भी बंद करा दी गई है।

Share This Article