औरंगाबाद :ह्त्याअभियुक्तो की गिरफ्तारी के विरोध मे प्रदर्शनकारियों ने कराया बाजार बंद, दी चेतावनी

developer
6 Min Read

संदीप कुमारMagadh Express:औरंगाबाद जिले के नवीनगर शहर की छात्रा श्रेया कुमारी की हत्या के विरोध मे शनिवार को दोपहर 3 बजे से प्रदर्शनकारियों ने नवीनगर बाजार को पुनः बंद करा दिया। वही बंद कराने वालों प्रदर्शनकारियो ने दुकानदारों को चेतावनी दिया है कि जबतक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है तबतक नवीनगर बाजार पूरी तरह से बंद रहेगा।बाजार बंद कराने के बाद सड़को पर सन्नाटा छा गया । यहां तक की अति आवश्यक दूध,पानी और दवा की दुकानें भी बंद करा दी गई है। वहीं बैंको के शटर भी गिरा दिए गए है और एटीएम भी बंद करा दिया गया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जबतक श्रेया के हत्यारों का पर्दाफाश नही हो जाता है तबतक नवीनगर को पूरी तरह से बंद रखा जायेगा।विदित हो कि 11 जून की सुबह घर से कोचिंग के लिए निकली नवीनगर की 16 वर्षीय छात्रा का शव रोहतास जिले के इंद्रपुरी थाना क्षेत्र के पटनवां भुइंया टोली के समीप नहर से बरामद किये जाने के बाद इलाके में सनसनी फैल गयी। मृतका की पहचान नवीनगर गैस गोदाम निवासी अभय कुमार सिंह की पुत्री श्रेया कुमारी के रूप में हुई है। घटना के विरोध में परिजनों के साथ शहर के लोगों ने नवीनगर थाना मोड़ के समीप शुक्रवार को जमकर बवाल मचाया। जिसमें करीब 2 घंटे तक पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और आगजनी कर हत्या में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग की। आक्रोशितों ने पुलिस पर क्राइम कंट्रोल नहीं करने का आरोप लगाया। आक्रोशितों का कहना था कि नवीनगर में इस तरह की घटनाएं लगातार हो रही है, लेकिन पुलिस न तो अपराधियों पर शिकंजा कस रही है और न ही अपराध को रोकने में सफल हो रही है। अंतत: थानाध्यक्ष ने छात्रा की मौत मामले का जल्द उद्भेदन और गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। तब आक्रोशित शांत हुए। नवीनगर शहर के गैस गोदाम के पीछे वाले इलाके में रहने वाले अभय कुमार सिंह की पुत्री श्रेया कुमारी 11वीं की छात्रा थी। 11 जून की सुबह 6:15 बजे वह प्रीमियर कोचिंग जाने की बात कहकर घर से निकली थी इसके बाद वह घर नहीं लौटी। काफी विलंब होने के बाद परिजनों को चिंता सताने लगी। कोचिंग से लेकर जान-पहचान वालों से परिजनों ने संपर्क किया, लेकिन कहीं अता-पता नहीं चला. 12 जून को श्रेया की मां उर्मिला देवी नवीनगर थाना पहुंची और बेटी के गायब होने से संबंधित आवेदन देकर खोजने की गुहार लगायी थी। पुलिस परिजनों से पूछताछ के आधार पर आगे की प्रक्रिया में जुट गयी। 13 जून की शाम रोहतास जिले के इंद्रपुरी थाना क्षेत्र के पटनवां भुइंया टोले के पास पश्चिमी संयोजक नहर से स्थानीय पुलिस ने शव बरामद किया। पता चला कि मृतका के पॉकेट में मोबाइल नंबर लिखा कागज बरामद हुआ, जिसके बाद पुलिस ने परिजनों को जानकारी दी। बदहवास परिजन इंद्रपुरी थाना पहुंचे, तब तक शव को पोस्टमार्टम के लिए सासाराम भेज दिया गया था। शुक्रवार की सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। परिजन शव लेकर नवीनगर पहुंचे और आगे की प्रक्रिया पूरी की. इधर, जब घटना की जानकारी शहर के लोगों को मिली तो आक्रोश उबल पड़ा। थाना मोड़ के समीप परिजनों के साथ सैकड़ों लोगों ने आगजनी करते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। श्रेया को गायब होने के बाद उसकी मां उर्मिला देवी ने गुमशुदगी से संबंधित जो आवेदन पुलिस को दिया है, उसमें एक किशोर के साथ-साथ श्रेया की सहपाठी और उसकी मां के नाम सामने आये है। उर्मिला ने पुलिस को दिये आवेदन में बताया है कि श्रेया के गायब होने के बाद जब घर के मोबाइल नंबर की जांच की तो टंडवा थाना क्षेत्र के एक गांव के किशोर के साथ 10 जून की रात साढ़े 10 बजे का चैट पाया गया. इसके अलावे श्रेया की एक सहपाठी और उसकी मां को भी श्रेया की मौत में कारक के रूप में देखा जा रहा है। उर्मिला ने बताया है कि जब श्रेया की सहपाठी की मां को फोन कर उससे बात कराने की गुहार लगायी, लेकिन बात नहीं करायी। श्रेया के अपहरण और उसकी हत्या में तीनों लोग शामिल है। अब पुलिस इन तीनों पर शिकंजा कसने के लिए तैयार है।उम्मीद है कि चंद घंटे में ही घटना का उद्भेदन हो जायेगा। मगर घटना की उद्भेदन नही होने के कारण प्रदर्शनकारियों ने दुसरे दिन नवीनगर बाजार को पूर्णत बंद करा दिया। जिससे नवीनगर बाजार बंद रही और सडकों पर सन्नाटा पसरा रहा।इस संबंध में नवीनगर थानाध्यक्ष मनोज कुमार पान्डेय ने बताया कि पुलिस मामले मे कार्रवाई कर रही। हर संदिग्ध से पुछताछ कर रही है। जल्द ही मामले का उद्भेदन कर लिया जायेगा।

Share This Article