औरंगाबाद :छात्रा हत्याकांड का खुलासा,बबलू चंदा गेस्ट हाउस के संचालक और उसका भाई गिरफ्तार,रेप के बाद गला दबाकर किया हत्या

developer
3 Min Read

 संदीप कुमारMagadh Express:औरंगाबाद जिले में नबीनगर की नाबालिग छात्रा की हत्याकांड का खुलासा आज औरंगाबाद पुलिस ने कर दिया है । एसपी  स्वप्ना गौतम मेश्राम ने आज शनिवार को 17 दिन बाद अपने कार्यालय में मीडिया के समक्ष इसका खुलासा किया है । और पूरे मामले की जानकारी दी है।एसपी ने बताया कि छात्रा की हत्या मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और गिरफ्तार युवकों में नबीनगर के कोशडीहरा निवासी दिलीप सिंह के पुत्र धर्मेंद्र कुमार सिंह और राकेश कुमार सिंह है। ये दोनो नबीनगर में ही स्थित बबलू चंदा गेस्ट हाउस के संचालक है। ह्त्याकांड का पुलिस ने किया उद्भेदन कार समेत दो मुख्य आरोपी गिरफ्तारनवीनगर  हत्याकांड का पुलिस ने उद्भेदन किया है। जिसमें पुलिस ने मुख्य दो आरोपी को कार के साथ गिरफ्तार किया है। जिसमें पुलिस अनुसंधान में छात्रा के साथ दुष्कर्म कर ह्त्या की गयी थी। जिसके बाद शव को कार से ले जाकर इंद्रपुरी बराज नहर में फेक दिया गया था। साक्ष्य के आधार पर नवीनगर थाना अंतर्गत बबलू चंदा गेस्ट हाउस के संचालक राकेश कुमार सिंह एवं उसके भाई धर्मेंद्र कुमार सिंह पिता दिलीप सिंह ग्राम कोसडिहरा को घटना में प्रयुक्त एक उजला रंग का ऑल्टो कार और दो मोबाइल फोन के साथ गिरफ्तार किया गया। इन्होंने बबलू चंदा गेस्ट हाउस के कमरा में नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के उपरांत गला दबाकर हत्या करने, शव को छिपाने के नियत से कार के डिक्की में रखकर उसे इंद्रपुरी बराज में फेंक देने के बाद स्वीकार किया है।इस संबंध में आयोजित प्रेस वार्ता में पुलिस अधीक्षक स्वप्ना गौतम मेश्राम ने बताया कि इस घटना के त्वरित उद्वेदन हेतु एक विशेष अनुसंधान दल का गठन किया गया था जिसमें अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर 1 संजय कुमार पांडेय, पुलिस उपाधीक्षक साइबर थाना डॉ अनु कुमारी, पुलिस निरीक्षक नवीनगर आंचल विमल कुमार, जिला आसूचना इकाई के प्रभारी शंभू कुमार, राम इकबाल यादव, संतोष कुमार, मुन्ना कुमार, नवीनगर थाना अध्यक्ष मनोज कुमार पांडेय एवं महिला थाना अध्यक्ष आरती कुमारी शामिल थे। एसपी ने बताया कि गठित टीम द्वारा विभिन्न जगहों का सीसीटीवी फुटेज का अवलोकन, संभावित घटनास्थलों का निरीक्षण, कई लोगों से पूछताछ, प्रतिदिन कांड की समीक्षा, विधि–विज्ञान प्रयोगशाला पटना की टीम द्वारा बबलू चंदा गेस्ट हाउस, इंद्रपुरी बराज एवं घटना में प्रयुक्त ऑल्टो कार का नमूना लिया गया। इसके बाद टीम द्वारा ऑल्टो कार को विधिवत जप्त किया गया एवं शव को छिपाने, इंद्रपुरी बराज जाने में प्रयोग किए गए संभावित मार्ग सहित उपरोक्त सभी बिंदुओं पर गहन रूप से समीक्षा किया गया। वहीं घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक मगध क्षेत्र गया के द्वारा भी घटनास्थल का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा–निर्देश दिया गया था।

Share This Article